Best-20] जयपुर में घूमने की जगह | जयपुर के पर्यटन स्थल

jaipur tourist places list in hindi :- नमस्कार प्रिय पाठकों आज के लेख में हम बात करने वाले हैं जयपुर के बारे में पिंक सिटी के नाम से मशहूर जयपुर को राजस्थान राज्य की राजधानी होने का गौरव भी प्राप्त है आगे इस लेख में बताएंगे जयपुर में घूमने की जगह कौन-कौन सी हैं इससे पहले आपको जयपुर के रोचक तथ्यों से रूबरू करा देता हूं।

  • जयपुर की पहचान यहाँ के खूबसूरत ऐतिहासिक इमारते पुराने घरो में लगे गुलाबी पत्थर और अपने कर्माति इतिहास और ऐतिहासिक कारणों की बजह से होती है ।
  • जयपुर को भारत के स्वर्णम त्रिभुज यानि Golden traingle का हिस्सा बनाया गया है। इसमें भारत के मुख्य रूप से तीन शहर शामिल है जिसमे  –दिल्ली , आगरा और जयपुर इसका मतलब जयपुर भारत वो शहर है जहां सबसे ज्यादा घूमने के लिए देसी और विदेशी पर्यटक आते हैं.
  • प्राचीन समय से जयपुर शहर में प्रवेश करने के लिए अलग-अलग दिशाओं में 7 दरवाजे हुआ करते थे लेकिन आज के समय में एक नया गेट और बनाया गया.
  • यह राजस्थान का सबसे बड़ा और सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर भी है.
  • जयपुर को आज के आधुनिक नीतो के द्वारा बनबाया गया है जिसके कारण आज के समय में पूरा जयपुर बड़ी -बड़ी दीवारों से घिरा हुआ है ।
  • यह दुनिया क एक मात्र ऐसा शहर है जिसमे पुरानी और नयी संस्कृति झलकती है.

शायद इसीलिए जो भी विदेशी सैलानी इंडिया घूमने के लिए आते हैं उनमें से हर दूसरा व्यक्ति जयपुर पर्यटन स्थल की खूबसूरती देखने अवश्य जाते है ।

चलिए जानते हैं जयपुर में घूमने लायक जगह कौन कौन सी है-

Table of Contents

जयपुर में घूमने की जगह

अगर आप जयपुर का भ्रमण करने की सोच रहे हैं आपको यह लेख अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए जिससे आपको जयपुर घूमने में काफी ज्यादा सहूलियत मिलेगी।

1. हवामहल

hawa-mahal
hawa-mahal

जयपुर का सबसे ज्यादा लोकप्रिय पर्यटन स्थल हवामहल सबसे पहले नम्बर पर आता है इस महल में कुल 953 छोटी बड़ी खिड़किया बनी हुई है।

  • दरअसल इस महल को इसलिए बनाया गया ताकि राजपूतो की रानिया और राजकुमारिया ठंडी हवा के झरोखो में बैठकर  बिशेष मौके पर निकलने बाले जुलूसों को देख सके ।
  • उस समय राज वंश राजपूतों की औरतों को घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं हुआ करते थी बजह से हवा महलको बनबाया गया ताकि राजयो की निकलने बाले जुलाशो को वो देख सके ।
  • ये पांच मंजिला ईमारत बिना किसी नीव के बनाई गयी है तभी यह दुनिया की सबसे बड़ी ऐसी इमारतों में शामिल जो बिना किसी नीव के इतनी भव्य बिल्डिंग खड़ी है।
  • इसका निर्माण साल 1719 में महाराजा सवाई प्रताप सिंह जी के द्वारा करवाया गया था

जोधपुर घूमने की पूरी जानकारी

2. चौकी ढाणी जयपुर ।  Chokhi Dhani Jaipur

chauki-dhani-jaipur
chauki-dhani-jaipur

राजस्थान के गांव में निवास करने वाली जनजातियों के संस्कृति , परंपरा और उनके रहन-सहन तथा उनके द्वारा उपयोग की जाने वाली वस्तुएं खुद देखने चाह रहे हैं जयपुर के चौकी ढाणी आपके लिए बेस्ट बेस्ट साबित हो सकता है क्योंकि इसके अंदर झांकियों के माध्यम से बड़ी सुंदरता से दर्शाया गया

इसके अलावा चौकी धानी के अंदर ही कलाग्राम मार्केट है जहां आप यहां के परंपरागत वस्तुओं को खरीद सकते हैं।

3. चाँद बाबड़ी 

जयपुर के दार्शनिक स्थल चांद बावड़ी में नीचे उतरने की सीढ़ियां भूल भुलैया जैसी हैं जब इस बावड़ी में नीचे उतरेंगे तो अचानक से ऊपर आने का रास्ता भटक जाएंगे इन सीढ़ियों से नीचे उतर कर चले जाते है तो वापस उन्ही सीढ़ियों से उसी रास्ते से ऊपर नहीं आ पाएंगे ।

क्योकि ये भूल भुलैया जैसे बनायीं गयी है  आप रास्ता भटग जायेगे आपकी याददश्त आपका साथ नहीं दे पायेगी । इसीलिए इसे ओपन भूल भुलाय के नाम से जानते है ।

4. अल्वर्ट हाल  म्युसियम

albert-hall
albert-hall

शायद आपने मिस्र के पिरामिड और ममी  के बारे में किताबों में खूब पढ़ा होगा लेकिन क्या आपने उसे कभी अपनी आखो के सामने देखा है अगर नहीं तो इसके लिए आपको मिस्र जाने की जरूरत नहीं है ।

आप राजस्थान की राजधानी जयपुर शहर के अल्बर्ट म्यूजियम मेरा की हजारों साल पुरानी टूटू नामक महिला के की ममी देख सकते हैं.

इसके अलाबा इस संग्रहालय में पुराने हथियार, सिक्के, ज्वेलरी, पुराने म्यूजिकल इंट्रूमेंएट, और ऐतिहासिक तस्वीरें को देख पाएंगे.

5. जंतर मंतर जयपुर 

प्राचीन समय में जब घड़ी का आविष्कार नहीं हुआ था तब महाराजा जयसिंह ने जंतर मंतर नाम के यंत्र को समय ग्रह और नक्षत्रों को देखने के लिए इन चार शहरों में बनवाए थे जिनमें से दिल्ली, मथुरा, काशी बनारस, उज्जैन और जयपुर शामिल है।

यदि आप  विज्ञान में रुचि रखते हैं तो एक बार जंतर मंतर का रुख जरूर करेगा यहां बने इन पांच यंत्रों को गाइड के माध्यम से समझ जरूर समझेगा जो ज्ञान से भरा हुआ है।

इस बाबरी के तीन तरफ से सीढिया है और सामने की तरफ बेहतरीन नक्काशी बाला महल जहा राजकुमारियों के लिए स्नानगृह तथा विश्राम करने के लिए बनबाया गया था ।

6. पूनो ट्रैम्पोलिन पार्क । Puno Trampoline Park

अगर आप एडवेंचर के शौकीन या फिर परिवार के साथ किसी ऐसे पिकनिक स्पॉट की तलाश में है जिसमें बच्चे भी इंजॉय कर सकें तो पहुंच जाइए जयपुर के ट्रैम्पोलिन पार्क ।

यहां बहुत सारे एडवेंचर एक्टिविटी करने के लिए मिल जाएंगे जैसे कि स्लाइड्स , निंजा कोर्स , स्काई वाकिंग, रोप कोर्स, स्पाइडर टावर, स्काई बॉल, रोलर ब्रिज के साथ-साथ और भी कई एक्टिविटी को इंजॉय कर पाएंगे।

7. भानगढ़ किला

भानगढ़ किला भारत के चर्चित भूतही जगह में शामिल है सूरज ढलने के बाद किले के आस पास कोई भी इंसान दिखाई नहीं देता क्योकि यहाँ की यह बहुत डरावनी जगह है.

यह जयपुर से 84 किलोमीटर दूर अलवर जिला में स्थित भानगढ़ एक रहस्यमई किला है जिसका निर्माण 17वीं शताब्दी में राजा माधव सिंह ने करवाया था।

कहने को तो यहाँ बाजार , महल , बाग़ बगीचे , कुए , तालाब सब है लेकिन सब के सब खंडहर अवशेष में है मनो रातो रात ये शहर उजड़ गया हो ।

स्थानीय लोगो का मानना है की यह एक सापित जगह है सूर्या उदय होने से पहले और सूर्या डूबने के बाद किसी भी इंसान के लिए यहाँ रुकने की इजाजत नहीं है

यहाँ दिन में तो काफी पर्यटक आते रहते है लेकिन शाम होते ही यहां परिंदा भी पर नहीं मारते .

8. जल महल

jalmahal-jaipur
jalmahal-jaipur

जयपुर से नाहरगढ़ को जाने वाले रास्ते पर अरावली पहाड़ियों के बीच बनाया मानसागर झील के बीच में बना हुआ है और जयपुर में घूमने वाली जगह में प्रमुख स्थान है।

  • झील के बीचो बीच होने के कारण इसे आई बॉल के नाम से जाना जाता है । इस महल का निर्माण सवाई जैसिंघ ने करवाया था ।
  • झील  के बीच में बना ये खूबसूरत महल 5 मंजिला की  ईमारत है  जिनमे से 4 मंजिल हमेशा  पानी में डूबी रहती है तथा एक मंजिल ही दिखाई देती है ।
  • हर वर्ष मकर संक्रांति के समय इस झील के पास पतंग फेस्टिवल मनाया जाता है जहा दूर -दूर से आये हुए लोग पतंग उड़ाने की प्रतियोगिता में शामिल होते है ।

9. कनक घाटी

जलमहल से 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कनक घाटी जो खुले आसमान के नीचे प्रकति के बीच पर्यटकों को कुछ समय बिताने का एक शानदार अनुभव प्रदान करता है।

इस घाटी के शिखर पर बने पार की सुव्यवस्थित डिजाइन और आसपास के प्राकृतिक खूबसूरत दृश्य की वजह से यहां कई बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है जिसकी वजह से जयपुर में बहुत ही पॉपुलर स्थान है।

कनक घाटी से आधा किलोमीटर  दूर कनक वृन्दावन बाग़ पड़ता है जहा बच्चो के लिए झूले और वयस्कों के लिए टहलने के लिए बनाया गया।

10. नाहरगढ़ किला

जयपुर टूरिज्म में शामिल नाहरगढ़ किला का निर्माण 1734 हिंदी में महाराजा सवाई सिंह के द्वारा करवाया गया था इसके लिए का निर्माण कराने का मुख्य उद्देश्य उस समय के राजधानी रहे जयपुर की रक्षा करने के लिए बनाया गया था।

पहाड़ी पर बने इस किला परिसर से पुणे जयपुर शहर का एक खूबसूरत दिखाई देता है इसके साथ साथी शाम के समय ढलते हुए सूरज के रंग-बिरंगे केसरिया रंग की किरणें यहां से दिखाई देती है जिसे पर्यटक सनसेट पॉइंट के नाम से जानते है ।

11. अक्षरधाम मंदिर जयपुर

akshar-dham-temple-jaipur
akshar-dham-temple-jaipur

भारत के केवल चुनिंदा शहरों में स्थापित अक्षरधाम मंदिर जयपुर का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हैजो स्वामी नारायण को समर्पित इस मंदिर की भव्यता और नक्काशी आने वाले श्रद्धालुओं को मंत्रमुग्ध कर देते हैं।

मंदिर प्रांगड़ के अंदर बहुत ही खूबसूरत पार्क की डिजाइन की गयी जो पर्यटकों को घूमने का शानदार अनुभव देता है ।

12. बिरला मंदिर जयपुर 

birla-mandir-jaipur
birla-mandir-jaipur

प्रेम का प्रतीक राधा कृष्णा को समर्पित चे मंदिर जयपुर के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक यहां श्री कृष्ण जन्माष्टमी के के समय भक्तों की सबसे ज्यादा फ्रेंड मरती है। अगर आप भी राधा कृष्णा के भक्त हैं एक बार इस मंदिर में उनके दर्शन करने के लिए जरूर जाइएगा।

13. मोतीडूंगरी टेम्पल

जयपुर का प्राचीन मंदिर मोतीडुंगरी भगवान् गणेश को समर्पित इस मंदिर में गणेश जी उनकी दोनों पत्निया रिद्धि और सिद्धि के साथ विराजमान है

1761 में जिस समय मावली से गणेश जी की प्रतिमा लायी गयी उस वक़्त यह प्रतिमा 500 बर्ष पुरानी थी भक्तो की आस्थ के इस मंदिर की नीव की डिजाइन साधारण शैली पर रखी गयी जिसमे तीन दरवाजो और सीढ़ियों का निर्माण किया गया ।

भगवान् गणेश का या प्राचीन मंदिर जिसमे भक्तो का अटूट विश्वाश है ये गणेश जी का वो धाम है जहा जयपुर से लेकर भारत के कोने कोने से श्रद्धालुओं की भीड़ रहती है और गणेश चतुर्थी आते हैं यहां श्रद्धालुओं का तांता उम्र पड़ता है

14. गलताजी टेम्पल

हरी-भरी घाटियों की तलहटी में बसा गलताजी धाम हिंदू पवित्र तीर्थ स्थल है यहां सभी हिंदू देवी देवताओं मंदिर बने हुए हैं जिनके एक साथ आपको यहां दर्शन मिल जाएंगे।

इसके आसपास दिल को छू लेने वाली मनमोहक वादियां पर्यटकों के मन को सुकून पहुंचाती है ।

इसके अतिरिक्त मंदिर परिसर के पास साथ प्राकृतिक कुंड बने हुए हैं हर वर्ष मकर संक्रांति के दिन यहां श्रद्धालुओं की बहुत ज्यादा भीड़ लगती है और इन्हीं कुंड में डुबकी लगाकर मोक्ष प्राप्ति की कामना करते हैं।

15. सिटी पैलेस जयपुर

इसका जिक्र होते ही सभी के जुबान पर यही आता है की आखिर राजा महाराजा पहले कैसे रहा करते थे मतलब रॉयल फैमिली कैसे रहती थी ।

इन फैक्ट आज भी सिटी पैलेस जयपुर में सवाई मानसिंग के बंसज आज भी यही रहते है

कुछ समय पहले इस महल का क्षेत्रफल इतना बड़ा हुआ करता था जोकि जयपुर शहर के 7 वे हिस्से के बरावर था यहाँ पर्यटकों को घूमने के लिए कई स्थान मौजूद है जैसे –

  • मुबारक महल
  • चंद्रमहल
  • गोविन्द जी मंदिर
  • बग्गी खाना
  • महारानी महल

16. खाटू श्याम जी मंदिर

जयपुर से 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित महाभारत कालीन बर्बरीक को समर्पित इस मंदिर में भगवान श्री कृष्ण की पूजा की जाती है।

पौराणिक कथाओं की माने तो कलयुग के भगवान खाटू श्याम जी है जो भगवान श्री कृष्ण के अवतार हैं।

खाटू श्याम मंदिर और दर्शन की जानकारी के लिए इसे पढ़ें

17. पिंक पर्ल रिसोर्ट वाटरपार्क – Pink Pearl Resort Waterpark

Pink Pearl Resort Waterpark
Pink Pearl Resort Waterpark

जयपुर शहर का सबसे खूबसूरत पिंक पर्ल वाटरपार्क है इस पार्क के अंदर सभी तरह की वॉटर एक्टिविटी जैसे कि स्विमिंग ,वॉटर स्लाइड्स समुद्री लहरें, आर्टिफिशियल झरने, वाटर पूल और भी कई वॉटर राइड्स कराई जाती है जिस का लुफ्त उठा सकते हैं। छुट्टियों वाले दिनों में यहां काफी ज्यादा भीड़ भाड़ का माहौल होता है।

18. आमेर किला

जयपुर शहर से 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित आमेर किला जयपुर टूरिस्ट आकर्षण का प्रमुख केंद्र है।

इस किले के परिसर में मुगलकालीन गार्डन, शीश महल , और सुख मंदिर यहां का प्रमुख आकर्षण है।

  • शीश महल – आमेर किला का सबसे मुख्य आकर्षण का केंद्र शीशमहल ही है इसका निर्माण जैसिंघ के द्वारा करवाया गया था इसकी खास बात यह है की यहाँ दीवारों और छतो पर शीशे का बहुत बारीक कार्य हुआ है इस में उपयोग किए जाने वाले कांच बेल्जियम से मंगाए गए थे.

कांच से बने होने की वजह से शाम के समय जब लाइट चालू हो जाते हैं जय महल बिल्कुल तारामंडल की तरह दिखाई देता है मानो ऐसा प्रतीत होता है कि आप तारों के बहुत करीब है।

  • सुख मंदिर गार्डन के दूसी तरफ सुख मंदिर का निर्माण किया गया है यहाँ पर राजा और रानी गर्मियों के दिनों में विश्राम किया करते थे

इस जगह की खासियत  है की उस समय भी यहाँ पर वातानुकूलित की व्यवस्था हुआ करती थी । और वो प्राकृतिक वातानुकूलन हुआ करता था ।

19. हथनी कुंड ( झरना )जयपुर

जयपुर सिटी के आस पास घूमने की सबसे खूबसूरत प्राकृतिक जगह हथनी कुंड जहा प्राकृतिक नैसर्गिक के बीच बहता हुआ शानदार झरना  शांत वातावरण में हरे भरे जंगलो के बीच स्थित यह झरना यहाँ आने बाले पर्यटक झरने का अद्भुत दृश्य देखकर मंत्र  मुग्द्ध हो जाते है ।

हथिनी कुंड जयपुर घूमने का सबसे बेस्ट समय बरसात का होता है क्योकि उस समय झरना में पर्याप्त पानी बहता रहता है ।

20.चँदायी  लेक

जयपुर से लगभग 25 किलोमीटर दूर स्थित चँदायी लेक जयपुरी लोगो के बीच काफी फेमस हो रहा है पहले इस लेक के बारे में ज्यादा लोग को नहीं पता था लेकिन अब धीरे धीरे यहाँ पर्यटकों का आना जाना लगा ही रहता है ।

21. जयगढ़ किला जयपुर

यह किला पिंक सिटी के चल कटेला नमक पहाड़ी पर स्थित है और यह भी जयपुर के पर्यटन स्थल का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है जो पर्यटकों के बीच काफी फेमस जगह है इस किले का निर्माण 1926 में सवाई राजा जैसिंघ द्वारा आमेर किला के रक्षा के लिए बनवाया गया था ।

जयगढ़ किला की सबसे खास बात यह की यहाँ पर दुनिया की सबसे बड़ी तोप रखी हुयी है । अगर आप जयपुर में घूमने की जगह देखने के लिए जा रहे हैं तो इस ऐतिहासिक धरोहर को अपने घूमने वाले लिस्ट में जरूर शामिल करें।

22. बाबू बाजार और जोहरी मार्केट

जयपुर पर्यटन स्थल के साथ-साथ बाजारों के लिए भी जाना जाता है स्पेशली यहां की लहरिया और जयपुरी साड़ियां पूरी दुनिया में विख्यात है।

मार्केट की सबसे बड़ी खास बात है कि यहां यहां की दुकानों में इतनी ज्यादा वैरायटी देखने को मिल जाएगी कि आपको सिर्फ एक ही बार में बस में पसंद आ जाएंगे जो काफी कम दामों में आसानी से मिल जाते हैं।

जब आप जयपुर घूमने जाये तो बाबू बाजार घूमते फिरते हुए यहां के राजस्थानी स्ट्रीट फूड का आनंद ले सकते हैं

23. वर्ल्ड  ट्रेड पार्क जयपुर

World trad park 
World trad park

पिंक सिटी का सबसे बड़ा और भारत का पांचवा सबसे बड़ा शॉपिंग मॉल वर्ल्ड ट्रेड पार्क है जहा पर अपने मनपसंद उपयोगी वस्तुओं को खरीद सकते है ।

जयपुर घूमने कैसे पहुंचे ?

राजस्थान की राजधानी जयपुर पहुंचने के लिए पर्यटकों को बहुत ही आसान है क्योंकि यह भारत के बिभिन्न शहरो से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है ।

जयपुर भारत के सभी छोटे बड़े शहरों से रेलवे और हवाई यात्रा के माध्यम से पूरी तरह से जुड़ा हुआ है वहीं आसपास के शहरों से जैसे दिल्ली चंडीगढ़ गुड़गांव आगरा से प्रतिदिन बसों का आवागमन होता रहता है।

जयपुर कैसे घूमे ?

दोस्तों जयपुर घूमने के लिए कई ऑप्शन है जैसे टूरिस्ट बस , शेयरिंग टैक्सी इसके अलाबा सबसे बेस्ट बिकल्प है रेंटेड कार या बाइक लेकर बहुत कम खर्चे में जयपुर को एक्स्प्लोर कर सकते है ।

अगर आप जयपुर किराये की बाइक लेकर घूमना चाहते है तो उसके लिए रेलवे स्टेशन या बस स्टैंड के पास कई एजेंट मिल जायेंगे जो किराये पर वाहन देते है ।

लेकिन उसके लिए आपसे आपका ओरिजिनल डॉक्युमनेट जमा कराय जाता है जब आप उन्हें बाइक वापस लौट आएंगे तो वह वह आपके सही सलामत डॉक्यूमेंट रिटर्न कर देंगे।

जयपुर कब जाना चाहिए ?

वैसे तो जयपुर घूमने के लिए किसी भी मौसम में जाया जा सकता है लेकिन यहाँ घूमने का सबसे बेस्ट समय ऑक्टूबर से मार्च तक का होता है क्योंकि इस मौसम में गर्मी नहीं होती जिससे आपको जयपुर घूमने में ज्यादा आनंद आएगा ।

जयपुर यात्रा के बिषय में पूछे जाने बाले सवाल


जयपुर में सबसे सस्ते कपड़े कहां मिलते हैं

जोहरी बाजार इस शहर का सबसे सस्ते कपड़ा के अलाबा यहाँ और भी कई अन्य चीजे बहुत ही कम दाम पर मिल जाती है जैसे –
1.राजस्थानी जूतियाँ जो दुनिया भर में बिख्यात है।
2.कुंदन ज्वेलरी।
3.जैपुरिया घाँघरा ।
4.होम डेकोरेशन।

जयपुर क्यों प्रसिद्द है?

राजस्थन की राजधानी जयपुर को भारत के स्वर्णम त्रिभुज यानि Golden traingle का हिस्सा बनाया गया है। इसमें भारत के मुख्य रूप से तीन शहर शामिल है जिसमे  -दिल्ली , आगरा और जयपुर इसका मतलब जयपुर भारत वो शहर है जो सबसे ज्यादा देखा जाता है ।

उम्मीद है आपको जयपुर घूमने की जगह काया लेख पसंद आया होगा दोस्तों आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें नीचे कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं और साथ ही साथ इस आर्टिकल को फेसबुक में जरूर शेयर करें।

और पढ़ें

1 thought on “Best-20] जयपुर में घूमने की जगह | जयपुर के पर्यटन स्थल”

Leave a Comment