Best 20 देहरादून में घूमने की जगह – पूरी जानकारी

इस लेख में आगे हम देहरादून शहर से जुडी जानकरी जैसे – देहरादून में घूमने की जगह , कब जाये , कैसे जाये , कहाँ रुके , कैसे घूमे , भाषा , संस्कति ,और इनसे जुड़े अन्य बिषय पर बात करने बाले है इसीलिए इस लेख को पूरा पढ़े ।

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून दिल्ली से 270 किलोमीटर दूर पहाड़ी चोटियों के पीछे छिपा एक खूबसूरत शहर जो प्रसिद्ध है अपने खूबसूरत वादियों और ऐतिहासिक धरोहरों के लिए जहां देश विदेश से सैलानी सुंदर प्रकृति की वादियों में देहरादून पर्यटन स्थल घूमने के लिए आते हैं.

Table of Contents

देहरादून में घूमने की जगह

जब आप देहरादून घूमने की प्लानिंग प्लानिंग करे तो इसके साथ में मसूरी को शामिल करे क्योकि यहाँ से केवल 35 किलोमीटर की दूरी पर पहाड़ो की रानी मसूरी है जिसका दीदार करने जा सकते है ।

 1. सहस्त्रधारा देहरादून

जितना ही खूबसूरत सहत्रधारा है उतना ही बेहतरीन इसका सफर भी है शहर से 15 किलोमीटर दूरी पर 40 मिनट के सफर में इसकी खूबसूरती को अपनी आँखों से देख सकते है शास्त्रधारा पहुंचने के लिए आपको दर्शन लाल चौक से डायरेक्ट टैक्सी मिल जाएगी ।

ये देहरादून का प्राकृतिक वाटरपार्क है जहां गर्मियों के मौसम स्वीमिंग का आनंद लेने के लिए टूरिस्ट यहाँ आते है यहाँ स्वीमिंग के साथ साथ कई वाटर एक्टिविटी भी कर सकते है ।

इस जगह की विशेषता है की यहाँ आने बाला पानी प्राकृतिक रूप से बहता रहता है जिसकी बजह से काफी स्वक्ष के साथ साथ पर्वतीय औषधियों से टकराते हुए पानी की बहती जलधारा देहरादून के सहत्रधारा में पहुँचता है ।

जिसकी बजह से यहाँ स्नान करने से स्किन रोग , जैसे चर्म रोग , खाज , खुजली इत्यादि दूर हो जाते है ।

सहत्र धरा में changing Rroom और लाकर भी सुबिधा उपलबध है ।

2. व्यू पॉइंट

सहत्रधारा के पास से ही रोपवे के द्वारा देहरादून के इस व्यू पॉइंट में जा सकते है सिखर के ऊपर पहुंचते ही मन को छू जाने बाली वादियों का खूबसूरत दृश्य मंत्रमुग्ध कर देता है ।

शहस्त्रधारा की बहती हुयी खूबसूरत जलधारा और चारो तरफ पहाड़ो से घिरे हुए शांत वातावरण में प्राकृत का अद्भुत नजारा देख कर टूरिस्ट देहरादून शहर से बहुत आकर्षित होते है ।

सच में यह एक देहरादून शहर का अमेजिंग प्लेस यहाँ के पार्क की खूबसूरती देखते बनती है आपने अपने शहर या कसबे में पार्क तो बहुत देखे होंगे लेकिन पहाड़ो पर बनाये जाने बाले इस गार्डन की बात ही कुछ अलग है यहाँ से पूरे देहरादून शहर को देख सकते है ।

यदि आप फोटोग्राफी के शौकीन है तब आपको इस प्लेस में जरूर जाना चाहिए क्योंकि यहाँ से बहुत ही शानदार बैकग्राउंड के साथ पिक्चर कैप्चर होती है ।

यदि आप अपने पार्टनर के साथ है तब तो आपको इस रोमांटिक प्लेस में जरूर जाना चाहिए ।

3. साई बाबा मंदिर

शहत्राधारा व्यू पॉइंट के ऊपर कुछ गेमिंग एक्टिविटी भी होती है और इसके ऊपर ही स्थित है साई बाबा का एक सुन्दर मंदिर जिनके दर्शन कर सकते है ।

4. आसान बैराज

आसान और यमुना नदी के संगम पर स्थित है आसान रिज़र्व जिसे बैराज के नाम से भी जाना जाता है ये जगह उत्तराखंड और हिमांचल प्रदेश के बॉर्डर में स्थित है जो देहरादून से 30 किलोमीटर की दूरी पर पड़ता है ।

जैव बिबिधिता की दृष्टि से ये क्षेत्र बेहद सम्बेदंशील माना जाता है क्योकि यहाँ बिशेष प्रकार की वनस्पतिया , पक्षियों का समूह और जीव के फैलने फूलने के लिए सम्बेदंशील जगह है ।

सर्दियों का मौसम शुरू होते ही इस बैराज में विदेशी परिंदो की संख्या बढ़ने लगती है ये आने बाले पक्षी ज्यादातर रूस , यूरोप , और चीन के अतिरिक्त आस पास के बिभिन्न देशो से यहाँ सैर करने आते है ऐसे में पक्षी प्रेमी पर्यटकों के लिए देहरादून में घूमने की जगह में ये पसंदीदा टूरिस्ट प्लेस है।

5. मसूरी

देहरादून जिला में स्थित मसूरी शहर से 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जो प्रसिद्द अपने ऊँचे ऊँचे पहाड़ो , बर्फबारी , हिल स्टेशन , झरने झील, पैराग्लिडिन , ज़िपलीने जैसे और भी बिभिन्न प्रकार के एडवेंचर प्लेस के लिए ।

मंसूरी ट्रैकिंग करते हुए जब चोटियों के सिखर तक पहुंचेंगे तो अविश्वसनीय फीलिंग होने बलि है क्योकिं यहाँ आप बदलो के ऊपर पहुंच जायेंगे और बदल आपसे नीचे होंगे ।

इतना ही नहीं यहाँ से केदारनाथ , बद्रीनथ और नीलगिरि पर्वत दूरदर्शी के माध्यम से देख पाएंगे मसूरी भारत का 5 वा सबसे अच्छा हिल स्टेशन है जहाँ साल भर लाखो की संख्या में देश विदेश से पर्यटक इसका दीदार करने जाते है ।

सूरी में घूमने लायक जगह -पूरी जानकारी

  • क्लाउड एन्ड
  • केम्पटी फॉल
  • लाल टिब्बा
  • जॉर्ज हिल

यदि आप देहरादून से है या फिर मसूरी जाने सोच रहे है तो इसे घूमना बिलकुल भी मिस न करे क्योंकि जब आप इसे करीब से देख्नेगे तो दिल दे बैठेंगे ।

6. टपकेश्वर टेंपल 

इस मंदिर का हिन्दू पौराणिक महत्व भी जुड़ा हुआ है महभारत काल से स्थित यह धर्मिक स्थल भोलेनाथ को समर्पित है यहाँ भगवान शिव स्वयं प्रकट हुए है।

ये वही जगह है जहाँ गुरु द्रोणाचार्य और इनकी पत्नी ने तपस्या किया करते थे गुरुद्रोण शिक्षा ग्रहण करने के लिए और उनकी पत्नी कृपी पुत्र रत्न की प्राप्ति के लिए यहाँ भोलेनाथ का ज्ञाप किया करते थे ।

मंदिर के बगल से कल कल कर बहती हुयी टोंस नदी इसे और भी खूबसूरत बना देती है जहां शैलानी अपनी थकान मिटाने के लिए स्वीमिंग भी करते है ।

प्राकतिक गुफा के भीतर बना भगवान शिव के इस मंदिर में पानी टपकता रहता है जिसकी बजह से इसे टपकेस्वर मंदिर कहा जाता है मंदिर के बगल से बहती हुई पहाड़ी नदी जिसका एकदम क्लीन पानी देखकर पर्यटक चकाचौंध हो जाते है ।

7. हर की दुन

कभी देवताओं की नगरी रही हर की दूँ आज के आधुनिकीकरण में यहाँ पर्यटकों के लिए ट्रैकिंग करने के लिए सबसे उपयुक्त जगह है जो हिमालय पर्वतो और ग्लेशियर से होकर गुजरती है ।

शहर की भीड़ भाड़ से थोड़ी सी दूर सुकून ढूंढ रहे है और आप साहसिक है तब ये जगह आपके लिए है यहाँ बर्फ से ढके हुए पहाड़ो का अद्भुत नजारा देखने को ज्यादा तर पर्यटक इस वैली में आते है ।

8. तपोवन मंदिर देहरादून

जहाँ कभी ऋषिमुनियों की तप स्थली हुआ करता था आज उसी पवन भूमि में तपोवन मंदिर बना हुआ यह एक आश्रम है जिसके भीतर मंदिर मौजूद है

गुरुद्रोण चार्य ने इस पर्वतो में सैकड़ो बर्षो तक भगवान शिव की तपस्या किये थे और बाद में यहाँ से टपकेस्वर में चले गए यहाँ बड़े बड़े ज्ञानी और ऋषिमुनियों ने अपनी तप स्थली बनाया था ।

देहरादून में ये जगह अत्यंत सुन्दर है तभी तो साल के 12 महीने इस स्थली में भक्ति भाव से काफी श्रद्धालु यहाँ पर दर्शन के साथ साथ प्रकृति के सौंदर्य को देखने आते है।

ये वही पावन स्थल है सोचिये जरा यहाँ जाने से आपको प्रभु के अनन्य भक्त ऋषियों के दर्शन मात्रा से आपके भीतर एक अलग ही एनर्जी होने लगेगा ।

9. संतौला देवी मंदिर

साल के सभी दिन खुला रहने बाला इस मंदिर में हर रोज हजारो श्रद्धालु अपनी मनोकामनाएं लेकर माँ के दर्शन को यहां आते है खास तौर पर शनिवार और रविवार के दिन यहाँ भक्तो का शैलाब उमड़ पड़ता है ।

इस स्थान का पौराणिक महत्त्व ऐसा भी है की देवी ने मुगलो से विवाह करने के विरोधः में यहाँ आकर एकांत में भगवान् की अटूट तपस्या की थी और मुग़ल आक्रमण से देवी को बचने के लिए अदृश्य रूप में ब्रह्माण्ड से बिजली गिरी जिससे संतौला पठार के रूप में बदल गयी ।

तब से इसी स्थान पर उन्हें देवी के रूप में पूजा जाता है और कहते है निसंतान कोई व्यक्ति यहाँ मंदिर में सच्चे मन से प्रार्थना करता है तो उसकी मुरादे जरूर पूरी होती है ।

10. रॉबर्स गुफा

ये है देहरादून की सबसे मोस्ट पॉपुलर स्थान है यहाँ एक नदी है जो 600 मीटर गुफा के अंदर से होकर बहती है और उस गुफा में कई झरने भी मौजूद है जिसकी खूबसूरती देखते बनती है यकीन मानिये ये काफी अच्छी जगह है ।

इसे गुपचुप पानी के नाम से भी जाना जाता है इसका प्रवेश शुल्क 25 रूपए है

11. लच्छी बाला पिकनिक स्पॉट देहरादून

देहरादून का सबसे अच्छे पिकनिक स्पॉट के लिए लच्छीबाला टूरिस्टो की पसंदीदा स्थान है यहाँ पर स्वीमिंग के साथ साथ बिभिन्न प्रकार की वाटर एक्टिविटी करने के लिए मिल जाएगी जिसके अलग अलग चार्जेज होते है ।

यहाँ फॅमिली के साथ वीकेंड में भारी संख्या में स्थानीय पर्यटक स्वीमिंग के लिए जाते है

12. राजाजी नेशनल पार्क

यह एक चिड़ियाघर है जहाँ पर बिभिन्न प्रकार के जंगली जानवर और कई सारे पक्षियों के समूह का निवास स्थान है यदि आप प्रकृति प्रेमी है और जानवरो से आपका लगाव है तो ये टूरिस्ट प्लेस उस लिहाज से आपके लिए बेस्ट है ।

13. कालसी

देहरादून में यमुना नदी के किनारे बना इस स्थान पर खड़े होकर नदी का बिलकुल स्वक्ष बहता हुआ पानी को निहार सकते है जो की इससे क्लीन वाटर आपको यमुना में कही नहीं देखने को मिलेगा

क्योकि आज के आधुनिकीकरण के बजह से जगह जगह पर नदी में मैला पानी की नालियों को जोड़ दिया गया है लेकिन देहरादून तक इसका पानी काफी स्वक्ष रहता है ।

14. सिखर वॉटरफॉल

देहरादून शहर से 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस जलप्रपात तक पहुंचने के लिए 1 किलोमीटर की पैदल चढ़ाई जाली गलियारों से होकर गुजरना होता है।

इस स्थान में पहाड़ी के सिखर से गिरते हुए पानी का अद्भुत दृश्य देखने के लिए पर्यटक आते है ।

15. Maldevta watrefall

यदि आप देहरादून से है और Weakend में कोई शांत जगह में घूमने का प्लान कर रहे तो मालदेवता आपके लिए बेस्ट है यहाँ पर नदी की बहुत तेज बहती हुयी जलधारा मन को काफी सुकून पहुँचता है ।

यहाँ जाने के लिए साबधानी जरूर बरतनी चाहिए क्योकि नदी का पानी का बहाव तेज होने की बजह से थोड़ा दूर खड़े होकर प्रकृति के अद्भुत दृश्य का दीदार कर सकते है । ज्यादातर इस स्थान में स्थानीय पर्यटक घूमने आते है ।

16. मालसी डिअर पार्क

देहरादून से लगभग 16 किलोमीटर दूर यह एक चिड़िया घर है जहाँ पर तरह तरह के जानवर , पक्षीय और सर्पो की प्रजातियां देखने को मिल जाएँगी ।

मालसी ज़ू में कई प्रकार के जीवो की प्रजातियां निवास करते है जिनमे से बाघ , चीता , हिरन , खरगोश , पहाड़ी नील गाय के अलाबा और भी अन्य जीवो और पक्षियों का वास होता है ।

प्रकृति प्रेमियों के लिए खास तौर फोटोग्राफी का एक शानदार अवसर प्रदान करता है

17. राम राय गुरुद्वारा

सत्रहवीं शताब्दी में बना यह गुरुद्वारा सिक्खो के सातवे गुरु को समर्पित है जो सिक्ख धर्म का तीर्थ स्थान भी है । यहाँ हर बर्ष होली से 5 दिनों का भव्य मेले का आयोजन किया जाता है जहाँ भाग लेने के लिए लाखो की तादात में शैलानी देहरादून के पर्यटन स्थल में घूमने आते है ।

18. Fun Vaily

यदि आप बड़े शहरो से है तब आपको वाटरपार्क की एक्टिविटीज़ के बारे में तो जरूर पता होगा लेकिन अक्सर छोटे शहरो में निवास करने बाले लोगो को इसके बारे में जरा भी नहीं पता होता और वो इसे कभी अनुभव भी नहीं कर पाते ।

जैसे आपने फिल्मो में स्वीमिंग पूल देखि होगी ठीक वैसा ही देहरादून की फन वैल्ली है जहाँ आप भी जा कर इसे एन्जॉय कर सकते है यहाँ होने बाली राइड्स और एक्टिविए इस प्रकार है –

  • Lazy river
  • Multiple Water slides
  • wave pool
  • kiddies pool
  • dome skied
  • water disco

इनके अलाबा यहाँ होने बलि और भी भिन्न प्रकार की राइड्स है जिन्हे explore कर सकते है जैसे –

  • Go karting
  • fress bee
  • Tower slide
  • baby train
  • chandratara
  • kids pool

19. क्लेमेंट टाउन बुद्धा टेम्पल

दुनिया का सबसे बड़ा बुद्धा टेम्पल देहरादून के हरे भरे क्लेमेंट टाउन में स्थित है ये देहरादून का प्रसिद्द पर्यटन स्थल है लगभग 2 एकड़ के बिशाल एरिया में फैला यह स्तूप भारतीय कला के सुन्दर नक़्क़शी का यह एक उदाहरण है ।

इस स्तूप का निर्माण करने का मुख्य उद्देश्य विश्व शांति के लिए किया गया जो ऑक्टूबर 2002 में बन कर तैयार हुआ ये सप्ताह के सभी दिन सुबह 9 बजे खोला जाता है ।

20. F.R.I म्यूजियम देहरादून  

अपनी खूबसूरत वादियों के लिए जाना जाने बाला देहरादून ऐतिहासिक इमारतों के लिए भी विश्व भर में विख्यात है यहाँ मौजूद (FIR ) भारतीय वन अनुसन्धान जो एशिया महाद्वीप में इकलौता ऐसा वैज्ञानिकी अनुसन्धान है ।

शहर के मध्य भाग में स्थित यह वन शोध सेण्टर जहाँ जंगलो की हर प्रकार की रिसर्च की जाती है इसका निर्माण अंग्रजो के द्वारा 1878 में एक स्कूल के तौर पर करवाया गया था लेकिन अब इसे रिसर्च सेण्टर में बदल दिया गया ।

अगर आप विज्ञानं में रूचि रखते है या फिर साइंस स्टूडेंट है तब आपको FRI में एक बार जरूर जाना चाहिए यहाँ जंगलो से जुडी बिभिन्न प्रकार की जानकारियों को संगृहीत कर के रखा जाता है जो आज के आधुनिकीकरण में पर्यटन के लिए लोकप्रिय है ।

देहरादून घूमने कब जाएं?

 देहरादून घूमने के लिए वैसे तो साल भर पर्यटक आते रहते हैं परंतु यहां घूमने का सबसे बेस्ट समय दिसंबर और जनवरी का महीना होता है क्योंकि इस समय इसके पास में स्थित मसूरी है जहां पर snowfall बर्फ़बारी होता रहता है जो आपको देखने के मिल जाएगा ।

देहरादून कैसे पहुंचे ?

देहरादून में रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट है इसीलिए यहाँ पहुंचना बहुत आसान है दिल्ली से देहरादून केवल 270 किलोमीटर है और रेगुलर बस और ट्रेन आसानी से मिल जाएँगी

बया बस –उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के लिए भारत के सभी बड़े शहरो जैसे – दिल्ली , मुंबई , चेन्नई , हैदराबाद ,जयपुर , और इंदौर के अलाबा भी बिभिन्न सिटी से बस आसानी से मिल जाएँगी जो आपको देहरादून पंहुचा देंगे ।

बया ट्रैन – अगर हम रेलवे की बात करे तो बड़े शहरो से प्रतिदिन देहरादून के लिए रेलगाड़ी मिल जाएँगी यदि आपके कस्वे या शहर से ट्रैन नहीं है तो दिल्ली तक रेलगाड़ी से आ सकते है क्योंकि लगभग भारत के कोने कोने से दिली के लिए ट्रैन मिल जाएगी । वहा से आपको देहरादून के लिए हर दिन चलने बलि गाड़िया मिल जाएँगी ।

वाया हवाई जहाज – हवाई यात्रा के माध्यम से यहाँ पहुंचने के लिए आपको दिल्ली से जॉली ग्रांट एयरपोर्ट देहरादून के लिए फ्लाइट मिल जाएँगी या फिर कई और बड़े शहरो से मिल जाएँगी ।

देहरादून में कहाँ रुके ?

यहाँ पर रुकने के लिए आपके पास कई बिकल्प है जैसे रिसोर्ट , होटल , और कैंपिंग जहाँ खाने पीने की अच्छी व्यबस्था के साथ आस पास के सुन्दर नजरो का दीदार कर सकते है ।

अगर आपको मसूरी भी घूमना है तब हम आपको recommend काऊंगा की मसूरी में रुके क्योकि वहा से सभी टूरिस्ट प्लेस नजदीक में होंगे जिससे कन्वेन्स का खर्चा कम आएगा ।

देहरादून कैसे घूमे ?

जब आप देहरादून पहुंच जाये तो बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन के बाहर कई सारे एजेंट मिल जायेंगे जो किराये पर बाइक और कार देते है उसके लिए आपसे ओरिजनल डॉक्युमनेट सिक्योरिटी के तौर पर जमा कराया जाता है ।

यदि स्कूटी से घूमना चाहे तो उसका मिनिमम कास्ट 500 प्रतिदिन और कार का 1500 डेली के हिसाब से लगता है ।

लेकिन इसके अलाबा ऑटो बुक करके देहरादून में घूमने की जगह कम खर्चे में बड़े आसानी के साथ घूमने जा सकते है ।

देहरादून घूमने का खर्चा क्या होगा ?

वैसे ये खूबसूरत प्लेस होने के बाबजूद भी अन्य स्थानों से काफी सस्ता है यहाँ पर मिनिमम 800 से एक हजार तक प्रतिदिन के लिए होटल मिल जायेंगे और खाने पीन की बात करे तो 150 रूपए में भरपेट अच्छा भोजन मिल जायेगा जो की बहुत कम है ।

देहरादून में घूमने लायक जगहों को विजिट करने का चार्ज 1500 रूपए डेली अगर हम राउंड फिगर में बात करे तो मसूरी और देहरादून के लिए 4 दिन के टूर प्लान में प्रतिव्यक्ति मिनिमम 6 हजार रूपए लग जायेंगे ।

यदि आप मसूरी के एडवेंचर एक्टिविटी करते है तब उसके अलग से चार्ज होंगे ।

टूर प्लान कितने दिन का बनाये ?

अगर आप देहरादून के साथ साथ मसूरी ट्रिप में भी जाना चाहते है तब आपके पास 4 दिन का समय होना चाहिए क्योकि 3 दिन मसूरी में ही लग जायेगा तभी अच्छे तरीके से यहाँ के पहाड़ो की ट्रैकिंग के साथ साथ कैंपिंग और होने बाले एडवेंचर का आनंद उठा पाएंगे ।

FAQ – Related Dehradoon Tourist Place

टपकेश्वर में कौन सी नदी बहती है?

देहरादून स्थित टपकेस्वर मंदिर के बगल से टोंस नदी बहती है जिसे महाभारत काल में तमसा नदी के नाम से जाना जाता था जो देवताओं के स्नान करने के लिए प्रकट किया गया था ।

देहरादून में कौन कौन से मंदिर हैं?

देहरादून के प्रमुख मंदिरो में टपकेस्वर महादेव मंदिर , बुद्धा टेम्पल , चंद्रबनी , लक्षमण सिद्ध मंदिर , संतौला देवी मंदिर , इनके अलाबा और भी यहाँ कई मंदिर है ।

निष्कर्ष –

दोस्तों आज के इस लेख में हमने जाना देहरादून में घूमने की जगह कौन कौन है , कहाँ रुके , कब जाये , कैसे जाये इन सब बातो को ध्यान में रकते हुए हमने देहरादून टूरिस्ट प्लेस के बारे में सम्पूर्ण जानकारी बताई है । फिर भी यदि कोई कमी रह गयी हो तो हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताये ।

अगर आपको देहरादून के पर्यटन स्थल की ये जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे ।

और पढ़े – Read More

Leave a Comment