भेड़ाघाट जबलपुर घूमने की जानकारी – compleate information of bhedaghat

भारत का दिल कहा जाने शहर   jabalpur  मध्यप्रदेश का एक जिला है  इस शहर से 20 किलोमीटर दूर स्थित नर्मदा नदी के किनारे bhedaghat  बसा हुआ है यह मध्य प्रदेश का पर्यटक स्थल है यहाँ पर भारत के कोने -कोने से हजारो शैलानी रोज प्रकृति का लुप्त उठाने  के  लिए दूर दूर से घूमने पर्यटक घूमने आते है ।

भेड़ाघाट प्रकति का सौंदर्य 

दोनों तरफ संगमरमर के पहाड़ और बीच में बहती नर्मदा और इसकी 450 फिट गहराई  इसके दोनों तरफ संगमरमर के चट्टानें है जो इसे बेहद खास बनाती है । जी हां  -इसी बेमिशाल खूबसूरती  को कोई जन्नत कहता है तो कोई कुदरत का करिश्मा ।

अभी तक आपने मार्बल देखे होंगे मार्बल की कालक्रिया देखी होंगी और यहाँ तक की  घरो पर भी मार्बल देखे होंगे लेकिन भेड़ाघाट में आप मार्बल के पहाड़ को छु कर देख सकते है।

नर्मदा नदी संगमर मर की चट्टानों के बीच से तेज रफ़्तार से बहती है जहा संगमरममर की चट्टानों में नीचे गिरती है तो धुँआ धार जैसी जगह का निर्माण होता है ये जगह सैलानियों को बहुत रास आती है भेड़ाघाट जबलपुर का सौंदर्य यहाँ देखने लायक होता है । भेड़ाघाट में अक्सर फिल्मो की शूटिंग होती रहती है ।

भेड़ाघाट पर्यटक स्थल- भेड़ाघाट जबलपुर घूमने की जगह

भेड़ाघाट संगमरमरी चट्टानों  की सौंदर्य और अनेको झरनो के लिए पूरी दुनिया में बिख्यात है यहाँ पर नर्मदा नदी अपनी तेज धार के साथ संगमरमर पहाड़ो  के बीच से होकर गुजरती  है।

शाम के समय चांदनी रात में यहाँ पर सैर करना एक अलग ही अनुभव होता है संगमरमरी चटटनो में जब चाँद  की रौशनी पड़ती उस समय नर्मदा नदी में बोटिंग करने का एक अलग ही अनुभव होता है ।

धुंआ धार जल प्रपात  । bhedaghat waterfalls- 

bhedaghat waterfall
bhedaghat waterfall

यहाँ नर्मदा नदी  का पानी इतना तेजी के साथ बहता है की वो जब जल प्रपात में  नीचे गिरता है तो धुएं की तरह छोटी- छोटी बूंदो के साथ उड़ने लगता है

और चारो तरफ पानी की छोटी छोटी बूँदें उड़ने लगती है और वो बूंदे जब थके हुए पर्यटकों को छूती है तो उन्हें फिर से एक बार  तारो -ताज़ा कर देती है और प्रपात के पास पूरे  धुंध छा जाती है

इसीलिए इस जगह को  धुआधार जल प्रपात ( dhuandhar waterfalls) के नाम से जाना जाता है  ये जगह भेड़ाघाट की सबसे खूबसूरत में से एक है वैसे तो यहाँ पर बहुत जगह  है घूमने के लिए ।

यहाँ का सबसे ज्यादा फेमस जगहों में से एक यही जगह जहा काफी ज्यादा मात्रा में पर्यटक पहुंचते है ।

नौका बिहार bhedaghat jabalpur boating

भेड़ाघाट में नाव की सबारी करना बाकई दिलचप्स होता है ऊँचे -ऊँचे मार्बल्स के चटटनों के बीच में नाव  की सबारी करना ये  जीवन के खूबसूरत यादो में से एक होगा ।

लगभग  22 किलोमीटर की एरिया में पुरे दिन बोटिंग होती रहती है । नाव की सबारी कर  प्राकृतिक नैसर्गिक के सुंदरता  का आनंद ले सकते है । भेड़ाघाट बोटिंग टाइमिंग की हम बात करे तो ये सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे  तक पूरे दिन भर यहाँ बोटिंग की जाती है।

इसीलिए जब आप भेड़ाघाट घूमने आये तो यहाँ की बोटिंग करके घूमने  भरपूर लुप्त उठाये राइड जरूर करे

बैलेंसिंग रॉक्स –  bhedaghat marble rocks –

balancing rocks bhedaghat
balancing rocks bhedaghat

प्राकृत का एक और अस्चर्यजनका ये पत्थर की बड़ी सी गोलाकार चट्टान कोई मानव निर्मित नहीं है बल्कि ये पूरी तरह से प्राकृतिक है ये अपना बैलेंस इस तरह से बनाये हुए है की भूकंप का 5 से 6 रियेक्ट पैमाने में भी इसे कोई प्रभाव नहीं पड़ता । प्रकृति प्रेमियों किए लिए ये दृश्य देखते बनता है ।  

चौसठ योगिन टेम्पल –

chausath yogin mandir jabalpur
chausath yogin mandir jabalpur

यह मंदिर हिन्दू पौराणिक कथाओ के अनुसार 10 वि शताब्दी में कलचुरी  बंस के राजाओ ने इसका निर्माण कराया था  ये मंदिर भेड़ाघाट में एक पहाड़ी के ऊपर स्थित है इस मंदिर के चारो तरफ गोलाकार में माता दुर्गा की 64 प्रतिमा बनायीं गयी ।

और मुख्य मंदिर इन सभी प्रतिमाओं  के बीच में है जिसमे भगवान् शिव और गौरा पारवती की मूर्ति है ये मंदिर अपने आप में बिलकुल आलौकिक है । इस मंदिर तक पहुंचने के लिए 150 सीढिया ऊपर पहाड़ में चढ़ना पड़ता है ।

बरघि डैम –

barghi dam jabalpur
barghi dam jabalpur

यह डैम जबलपुर भेड़ाघाट पर्यटन स्थलों में से एक है इसे नर्मदा नदी में बनाया गया है बरघि डैम बनाने का मुख्य उद्देश्य सिंचाई परियोजना के लिए है ।

और जानकारी के लिए बता दे के इस डैम में बिजली उत्पन्न  भी की  जाती है । और साथ में यहाँ पर पर्यटकों के लिए  नौका बिहार भी उपलब्ध  है पर्यटक यहाँ पर लगभग सभी प्रकार की  बोटिंग का आनद ले सकते है ।

जैसे- स्पीड राइड , क्रूज राइड,

रोपवे राइड धुंआ धार cable car bhedaghat –

जब आप भेड़ाघाट घुमने जाये तो यहाँ की रोपवे राइड की सबारी जरूर करे । ये धुंआधार वॉटरफॉल के एकदम सामने से जाता है।

जिससे आप dhuanaadhar waterfall की सेल्फी बिलकुल आसानी से ले सकते है । और साथ में प्राकतिक सुंदरता के मनमोहक दृश्य का आनद उठा सकते है ।

भेड़ाघाट में 90 प्रतिशत पर्यटक केबल इसी एक प्राकृतिक दृश्य को देखने के लिए दूर – दुर से घूमने आते  है तो जब आप भेड़ाघाट जाये ये प्राकृतिक मनमोहक दृश्य अवश्य देखे और रोपवे राइड की सबारी का भरपूर आनंद उठाये ।

बन्दर कूदनी भेड़ाघाट  –

जैसा की ये नाम से पता लगता है बदर कूदनी यानि की बंदरो के कूदने की जगह अर्थात जब आप भेड़ाघाट में  नौका बिहार का आनद ले रहे होते है तो  एक जगह पर नर्मदा नदी का दोनों छोर संगमर मर के पहाड़  इतने करीब आ जाते है की वहा पर मात्र 12 फिट की दूरी रह जाती है।

और उसके ऊपर से बन्दर छलांग लगाकर एक छोर से दुसरे छोर पर कूद जाते है जिसे बन्दर कुढ़नी के नाम से जाना जाने लगा । 

भेड़ाघाट कैसे पहुंचे । bhedaghat kaise pahuche ?

मध्यप्रदेश का ऐतिहासिक शहर जबलपुर भेड़ाघाट  पहुंचने के लिए सड़क , वायु और रेलवे ये तीनो यातायात साधन से जुड़ा हुआ है आप  इनमे से किसी भी यातायात से यहाँ बड़े आसानी से पहुंच सकते है और भेड़ाघाट का अद्भुत नजारा देख सकते है ।

रेलमार्ग  –  भेड़ाघाट के सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन जबलपुर रेलवे है जहा भारत के कोने कोने से ट्रैन का आवागमन होता है । जैसे – नई दिल्ली , मुंबई, बंगलोरे , इंदौर , लखनउ , पटना , हैदराबाद , चेन्नई , जयपुर इत्यादि शहरो से रेलमार्ग से जुड़ा हुआ है  से जुड़ा हुआ है । जबलपुर रेलवे स्टेशन से भेड़ाघाट की दूरी 20 किलोमीटर है ।

वायुमार्ग  – यदि आप हवाई सफर के मधयम से यहाँ पहुंचना चाहते है तो इसके नियर में जबलपुर एयरपोर्ट है । यहाँ से  टैक्सी से भेड़ाघाट पर्यटन के लिए बड़े आसानी के साथ पहुंच  सकते है इसकी दूरी एयरपोर्ट से  34 किलोमीटर  है ।

रोडमार्ग  – यदि आप रोड वे से यहाँ पहुंचना चाहे तो जबलपुर से सभी बड़े शहरो के लिए कन्नेक्टविटी है  जबलपुर बस स्टेशन से  22 किलोमीटर की दूरी है  जहा से भेड़ाघाट के लिए टैक्सी लेकर आसानी से पहुंच सकते है ।

भेड़ाघाट जाने का सबसे अच्छा मौसम

वैसे तो भेड़ाघाट जबलपुर किसी भी मौसम में जा सकते है लेकिन यहाँ जाने का सबसे अच्छा मौसम ठंडियों का होता है ऑक्टूबर से अप्रैल  तक यहाँ सबसे ज्यादा पर्यटक भी आते है।

क्योकि इस समय नर्मदा का में पानी बहुत ज्यादा मात्रा में होता है जिससे marvel rockes के चारो तरफ बहुत सारे  झरने बहते रहते है इसीलिए ये समय भेड़ाघाट घूमने  का सबसे उपयुक्त माना जाता है ।

इस समय bhedaghat jabalpur  का मौसम बहुत सुहाना होता है। जब आप bhedaghat  घूमने आये तो यहाँ की प्रकृति से का दिया गया तोहफा   waterfall  के नैसर्गिग दृश्य का आनद जरूर उठाये ।

और साथ में  यहाँ  पर boting  adventure का लुप्त जरूर उठाये । 

Leave a Comment